माल्या ने नरेश गोयल के प्रति सहानुभूति जताई, सरकार पर भेदभाव का आरोप लगाया

  • जेट एयरवेज के हालात पर कहा- इतनी बड़ी एयरलाइन डूबने की कगार पर, यह दुख की बात
  • माल्या ने फिर कहा- बैंकों का 100% कर्ज लौटाने को तैयार, फिर भी अपराधी ठहराया गया

लंदन. विजय माल्या ने जेट एयरवेज के फाउंडर नरेश गोयल के प्रति सहानुभूति जताई है। साथ ही सरकार पर निजी और सरकारी एयरलाइन कंपनियों के बीच भेदभाव करने का आरोप लगाया है। माल्या ने जेट एयरवेज किंगफिशर एयरलाइन की कॉम्पिटीटर थी लेकिन इतनी बड़ी एयरलाइन अब डूबने की कगार पर है। यह देखकर दुख हो रहा है।

सरकारी और निजी एयरलाइंस में भेदभाव क्यों: माल्या

  1. माल्या ने कहा कि सरकार ने एयर इंडिया के बेलआउट के लिए 35 हजार करोड़ रुपए की जनता की राशि इस्तेमाल की। वो सरकारी है सिर्फ इसलिए भेदभाव नहीं होना चाहिए। भारत में कई एयरलाइन नाकाम हो चुकी हैं। आखिर ऐसा क्यों ?
  2. लंदन में रह रहे माल्या ने फिर से कहा कि किंगफिशर ने सरकारी बैंकों से कर्ज लिया, यह सही है। लेकिन, मैंने 100% राशि लौटाने का प्रस्ताव दिया, इसके बावजूद मुझे अपराधी ठहराया जा रहा है।
  3. माल्या ने कहा- मीडिया कहता है कि मैं भारत प्रत्यर्पण से डरा हुआ हूं। मैं लंदन में रहूं या भारत की जेल में, कर्ज चुकाने को तैयार हूं। बैंक मेरा प्रस्ताव स्वीकार क्यों नहीं करते ?
  4. माल्या पर भारतीय बैंकों के 9,000 करोड़ रुपए बकाया हैं। मार्च 2016 में वह लंदन भाग गया। वहां की निचली अदालत और गृह विभाग माल्या के प्रत्यर्पण की मंजूरी दे चुके हैं। प्रत्यर्पण के खिलाफ माल्या की पहली अपील को हाईकोर्ट खारिज कर चुका है। भारत की विशेष अदालत (पीएलएलए) माल्या को भगोड़ा घोषित कर चुकी है।

Leave a Reply