श्रीलंका में गहराया राजनीतिक संकट, बर्खास्त PM विक्रमसिंघे का सरकारी आवास खाली करने से इनकार

श्रीलंका में गहराया राजनीतिक संकट, बर्खास्त PM विक्रमसिंघे का सरकारी आवास खाली करने से इनकार

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना ने शनिवार को अपदस्थ प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे की सुरक्षा वापस ले ली.

श्रीलंका में राजनीतिक संकट लगातार गहराता जा रहा है. बर्खास्त प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को सरकारी आवास खाली करने को कहा गया है. लेकिन विक्रमसिंघे ने इसका भारी विरोध करते हुए सरकारी आवास खाली करने से मना कर दिया है.  इस बीच विक्रमसिंघे के घर के बाहर हजारों समर्थक नारेबाज़ी कर रहे हैं.

रानिल विक्रमसिंघे को सरकारी आवास खाली करने के लिए पहले ही नोटिस भेजा गया था लेकिन उन्होंने डेडलाइन को नजरअंदाज कर दिया. विक्रमसिंघे अपनी बर्खास्तगी को पहले ही असंवैधानिक कह चुके हैं. इस बीच श्रीलंका के कुछ बड़े अधिकारियों का कहना है कि सरकारी आवास को खाली कराने के लिए वो कोर्ट से ऑर्डर ले कर आएंगे.

इससे पहले श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना ने शनिवार को अपदस्थ प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे की सुरक्षा वापस ले ली. विक्रमसिंघे का अब भी दावा है कि संवैधानिक तौर पर वही देश के प्रधानमंत्री हैं.

इससे पहले सिरिसेना ने संसद को 16 नवंबर तक निलंबित कर दिया क्योंकि विक्रमसिंघे ने बहुमत साबित करने के लिए आपात सत्र बुलाने की मांग की थी. सरकारी सूत्रों के मुताबिक सिरीसेना सोमवार को नये कैबिनेट का ऐलान कर सकते हैं.

दूसरी ओर अपदस्थ प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने दावा किया है कि 225 सदस्यीय सदन में उनके पास अब भी बहुमत है.

 

Leave a Reply