पुलवामा में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में जैश के दो आतंकी मार गिराए

कश्मीर में चलाए जा रहे ऑपरेशन ऑलआउट के बाद पिछले महीने पहली बार बारामूला को आतंकवाद मुक्त घोषित किया गया था
बीते 4 सालों में 2018 में सबसे ज्यादा 257 आतंकी मारे गए
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों ने जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकियों को मार गिराया। दोनों आतंकियों की पहचान शाहिद अहमद बाबा और इनायत अहमद जिगर के तौर पर की गई है। एक एसएलआर राइफल और पिस्टल भी जब्त की गई है।

सुरक्षाबलों को पुलवामा के राजपोरा में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इसके बाद राष्ट्रीय राइफल्स, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और पुलिस के जवानों ने गुरुवार रात सर्च ऑपरेशन चलाया। 23 जनवरी को बारामूला में सुरक्षाबलों ने 3 आतंकियों को मार गिराया था।

महिला को मारकर वीडियो वायरल किया
वहीं, पुलवामा में ही आतंकियों ने गुरुवार रात एक 25 साल की महिला की हत्या कर दी। आतंकियों ने घटना का वीडियो बनाया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल भी किया। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

बारामूला में कोई आतंकी नहीं बचा
जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने दावा किया कि बारामूला में अब कोई आतंकी नहीं बचा। राज्य में 2017 से सुरक्षाबलों की ओर से चलाए जा रहे ऑपरेशन ऑल आउट के बाद यह पहला मौका है जब किसी जिले को आतंकवाद मुक्त घोषित किया गया है।

बीते 4 सालों में 2018 में सबसे ज्यादा 257 आतंकी मारे गए। सुरक्षाबलों ने 2017 में 213, 2016 में 150 और 2015 में 108 आतंकी मारे थे। 2018 में सेना ने 142 आतंकियों को 31 अगस्त तक ही मार गिराया था। अगस्त-2018 में सबसे ज्यादा 25 आतंकी मारे गए थे।

घाटी में अभी भी 300 से ज्यादा आतंकी सक्रिय हैं। इनकी हरकतें सबसे ज्यादा दक्षिण कश्मीर में देखी गई हैं। सोशल मीडिया के जरिए ये लोग युवाओं को अपने साथ जोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। अधिकारी का कहना है कि एक-47 आतंकियों का सबसे पसंदीदा हथियार है।

Leave a Reply