लंदन में पहली बार गाड़ियों की स्पीड घटाने के लिए बनाई गईं 3डी जेब्रा क्रॉसिंग

  • इस पहल को 12 महीने तक पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर चलाया जाएगा
  • ट्रायल के परिणामों के आधार पर इसे पूरे लंदन में लागू किया जाएगा

लाइफस्टाइल डेस्क. ट्रैफिक व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए लंदन में पहली बार 3डी जेब्रा क्रॉसिंग बनाई हैं। इसकी शुरुआत 1 मार्च से लंदन के सेंट जॉन्स वुड हाई स्ट्रीट पर की गई है। इसे बनाने का लक्ष्य गाड़ियों की तेज स्पीड को घटाना और पैदल चलने वालों के लिए ट्रैफिक व्यवस्था को बेहतर करना है।

एक साल का ट्रायल प्रोजेक्ट

  1. इसकी शुरुआत लंदन के उत्तरी-पश्चिमी इलाके में एक पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर की गई है। यह ऐसा इलाका है जहां स्कूल हैं साथ ही बच्चों और स्थानीय लोगों का आना-जाना अधिक होता है। एक साल तक चलने वाले इस ट्रायल के परिणामों के आधार पर ही इसे पूरे लंदन में लागू किया जाएगा। इससे पहले भारत और आइसलैंड में 3डी जेबरा लाइंस की शुरुआत की गई थी। 
  2. दिल्ली में कम हुई थी गाड़ियों की रफ्तार

    लंदन में यह पहल वेस्टमिंस्टर सिटी काउंसिल ने की है। काउंसिल का कहना है कि दिल्ली में जब इसकी शुरुआत की गई थी तो गाड़ियों की गति 50 से घटकर 30 किलोमीटर प्रति घंटा हो गई थी।

  3. क्या है 3डी जेब्रा क्रॉसिंग

  4. जेब्रा क्रॉसिंग को 3डी पैटर्न पर पेंट किया जाता है। 3डी जेब्रा क्रॉसिंग एक तरह का भ्रम पैदा करती हैं। दूर से देखने पर यहां तैरते हुए ब्लाॅक नजर आते हैं जिससे लोग ऐसी जगहों पर गाड़ियों की रफ्तार धीमी कर देते हैं। 

Leave a Reply