प्यार की खूशबू में डूबी गुलजार की शायरी से करें इजहार-ए-मोहब्बत

आज प्रपोज डे है यानी प्यार के इजहार का दिन। दिल के जज्बातों को बयां करने के लिए गुलजार ने कई बेहतरीन शायरी लिखी हैं। जो प्यार का हर इमोशन उन तक पहुंचाती हैं। इजहार-ए-इश्क पर लिखी गईं बेहतरीन शायरी के साथ करें प्रपोज …
इश्क पर लिखी गुलजार की बेहतरीन शायरी
कोई पूछ रहा है मुझसे मेरी जिंदगी की कीमत
मुझे याद आ रहा है तेरा हल्के से मुस्कुराना

💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖

मैं तेरे इश्क़ की छांव में जल-जलकर काला न पड़ जाऊं कहीं,
तू मुझे हुस्न की धूप का एक टुकड़ा दे..

💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖

कैसी ये मोहर लगा दी तूने…
शीशे के पार से चिपका तेरा चेहरा
मैंने चूमा तो मेरे चेहरे पे छाप उतर आयी है उसकी,
जैसे कि मोहर लगा दी तूने…
तेरा चेहरा ही लिये घूमता हूं, शहर में तबसे
लोग मेरा नहीं, एहवाल तेरा पूछते हैं, मुझ से !!

💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖

आओ तुमको उठा लूं कंधों पर
तुम उचककर शरीर होठों से चूम लेना
चूम लेना ये चांद का माथा
आज की रात देखा ना तुमने
कैसे झुक-झुक के कोहनियों के बल
चांद इतना करीब आया है

💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖💖

Leave a Reply