मंत्री चौबे के पास बैठना चाहते थे प्रदेश कांग्रेस सचिव, राजनांदगांव शहर अध्यक्ष ने जड़ा तमाचा

सीएम ने चरखे वाला झंडा फहराकर व मंत्री अकबर ने सलामी न देकर तिरंगे का अपमान किया : कौशिक
बिलासपुर . गणतंत्र दिवस पर प्रदेश में तीन विवाद हुए। पहला राजनांदगांव में मारपीट का है। और दो विवाद झंडा फहराने को लेकर हुए।
राजनांदगांव में कैबिनेट मंत्री रविंद्र चौबे झंडा फहराने पहुंचे। कार्यक्रम के बाद वे सर्किट हाउस के हॉल में चले गए। यहां उनके पास कुर्सी पर प्रदेश सचिव विवेक वासनिक बैठ गए, पर वासनिक को शहर अध्यक्ष दिनेश शर्मा ने वरिष्ठ नेताओं के लिए कुर्सी खाली करने को कहा। वासनिक को अपमान लगा और कमरे से बाहर चले गए। फिर वहां मौजूद दूसरे नेताओं को घटना के बारे में बताने लगे। तभी शर्मा आए और दोनों के बीच कहासुनी होने लगी। अचानक शर्मा ने वासनिक को तमाचा जड़ दिया। विवाद बढ़ने से रोकने के लिए मौके पर मौजूद अन्य नेताओं ने दोनों को अलग किया। इसके बाद वासनिक बौद्ध समाज के प्रतिनिधियों के साथ रविवार को सीएम बघेल से मिले और शिकायत की
बिलासपुर में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर पर राष्ट्रध्वज के अपमान करने का आरोप लगाया है। कौशिक ने कहा है कि सीएम बघेल ने गणतंत्र दिवस के मौके पर राजीव भवन में राष्ट्रीय ध्वज के बजाय अपनी पार्टी का चरखे वाला झंडा फहराकर राष्ट्रीय ध्वज का अपमान किया है, उन्हें माफी मांगनी चाहिए। आजादी के बाद से गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने की परंपरा है। बघेल का राष्ट्रीय ध्वज न फहराना उनकी मानसिकता को प्रदर्शित करता है।

इसके साथ ही कौशिक ने बघेल मंत्रिमंडल के सदस्य मोहम्मद अकबर पर राष्ट्रगान के दौरान राष्ट्र ध्वज को सैल्यूट नहीं करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कवर्धा के पीजी कॉलेज ग्राउंड के मैदान में गणतंत्र दिवस समारोह के मौके पर अकबर ने राष्ट्रीय ध्वज तो फहराया, लेकिन राष्ट्रगान के दौरान ध्वज को सैल्यूट नहीं किया। यह राष्ट्रीय ध्वज का अपमान है। गणतंत्र दिवस जैसे राष्ट्रीय पर्व पर राष्ट्रगान के दौरान राष्ट्र ध्वज कोे सैल्यूट किया जाता है, यह परंपरा है। पर मंत्री अकबर ने परंपरा का पालन नहीं किया, उन्हें भी माफी मांगनी चाहिए।

ये आरोप कौशिक ने भाजपा कार्यालय में लगाए। वे यहां युवा मोर्चा कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने आए थे। मीडिया को उन्होंने मंत्री अकबर के कार्यक्रम का वीडियो भी उपलब्ध कराया। उन्होंने कहा कि वीडियो वायरल हो चुका है। इसमें साफ दिख रहा है कि राष्ट्रगान के दौरान मंत्री के दोनों हाथ नीचे हैं और पास खड़े अफसर ध्वज को सैल्यूट कर रहे हैं।

Leave a Reply