पूर्व केन्द्रीय मंत्री जय नारायण निषाद का निधन, राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर, हाजीपुर में होगा अंतिम संस्कार

पूर्व केन्द्रीय मंत्री जय नारायण निषाद का निधन, राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर, हाजीपुर में होगा अंतिम संस्कार:

नई दिल्ली। बड़ी खबर देश की राजधानी दिल्ली से आ रही है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री और कद्दावर नेता कैप्टन जयनारायण प्रसाद निषाद का सोमवार को निधन हो गया। वे 88 वर्ष के थे। निषाद करीब दस दिनों से हॉस्पिटल में भर्ती थे। उनकी मौत से राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर है। पूर्व मंत्री के बेटे ने बताया कि निषाद का अंतिम संस्कार बिहार के हाजीपुर स्थिक गंगा तट पर किया जाएगा।

दिल्ली में हुआ निधन

निषाद को दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में 11 दिसंबर को भर्ती कराया गया था। दरअसल, सुबह टहलने के दौरान निषाद गिर जिसके बाद उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। उनके सिर में गंभीर चोट लगी थी। लेकिन, उन्हें बचाया नहीं जा सका और दस दिनों तक हॉस्पिटल में भर्ती रहने के बाद उन्होंने सोमवार को अंतिम सांस ली।

पांच बार रह चुके थे सांसद

कैप्टन निषाद बिहार के मुजफ्फरपुर जिले से पांच बार सांसद रह चुके हैं। इतना ही नहीं उन्होंने कई बार पार्टी भी बदला। आपको बता दें कि निषाद भाजपा के सदस्य थे, तब उन्हें अप्रैल 2008 में भारत के उपराष्ट्रपति द्वारा विरोधी दलबदल कानून के तहत राज्यसभा के सदस्य के रूप में अयोग्य घोषित किया गया था। निषाद 1996 से 1998 के बीच केन्द्रीय राज्य मंत्री भी थे। गौरतलब है कि वर्तमान में उनका बेटा अजय निषाद भाजपा से मुजफ्फरपुर के सासंद हैं। उन्होंने कहा कि निषाद का अंतिम संस्कार हाजीपुर में किया जाएगा।

नीतीश कुमार ने जताया शोक

वहीं, दिवंगत नेता के मौत पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शोक व्यक्त करते हुए कहा है कि वे राजनीति में अपनी सुचिता और सरल हृदय के लिए जाने जाते थे। उनके निधन से सामाजिक और राजनीतिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कैप्टन निषाद का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। वहीं, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी सहित कई नेताओं ने शोक भी जताया है। मांझी ने कहा है कि उनके निधन से वंचित समाज को अपूरणीय क्षति हुई है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री के निधन से शोक की लहर है।

 

Leave a Reply