गुजरात: उत्तर भारतीयों पर हमले के खिलाफ आज सद्भावना उपवास करेंगे अल्पेश ठाकोर

newsyuva
गुजरात: उत्तर भारतीयों पर हमले के खिलाफ आज सद्भावना उपवास करेंगे अल्पेश ठाकोर

 गुजरात में परप्रांतियों पर हमले और पलायन के खिलाफ कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर एक दिन का सद्भावना अनशन करेंगे. अल्पेश ठाकोर के अनशन में ठाकोर समुदाय के विधायक, ओबीसी एकता मंच और ठाकोर सेना के सभी कनवीनर मौजूद रहेंगे. दरअसल अल्पेश ठाकोर पर एक सभा में लोगों को उत्तर भारतीयों के खिलाफ भड़काने का आरोप लगा है. इस सभा का एक वीडियो भी वायरल हो रहे हैं.

 

वीडियो पर अल्पेश ठाकोर की सफाई
वीडियो सामने आने के बाद अल्पेश ठाकोर ने सफाई दी है. कांग्रेस विधायक ने कहा, ”मैंने कभी भी किसी उत्तर भारतीय को गुजरात से बाहर निकालने की बात नहीं की. मैनें सिर्फ पीड़ित बच्ची को न्याय दिलवाने की बात की है. मैं अब छोटा नेता नहीं हूं, मैं बड़ा बन चुका हूं. मैं बिहार में कांग्रेस का सह-प्रभारी हूं. ऐसे में मैं बिहारियों को निकालने की बात कैसे कर सकता हूं?”

 

बीजेपी ने अल्पेश ठाकोर के वीडियो पर उठाए सवाल
वहीं बीजेपी सवाल उठा रही है कि आखिर अल्पेश के विधानसभा क्षेत्र में ही हिंसा क्यों भड़की? डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने भी कहा कि अल्पेश ठाकोर ने भड़काऊ भाषण दिए हैं और राज्य में फैक्ट्री बंद करवाने के पीछे उनका हाथ है. इसके अलावा वो अपने वीडियो में लोगों को उत्तर भारतीयों समेत दूसरे प्रांत के लोगों के खिलाफ गुजरात के लोगों को भड़काते साफ दिख रहे हैं. ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को ये बताना चाहिए कि वो हिंसा फैलाने वाले शख्स को प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर ऊपर रखना चाहते हैं या नहीं.

 

क्यों हुए परप्रांतियों पर हमले?
गुजरात में रह रहे उत्तर भारतीयों और वहां के स्थानीय लोगों के बीच 28 सितंबर की एक घटना तनाव की वजह बनी. साबरकांठा में 28 सितंबर को 14 महीने बच्ची के बलात्कार का मामला सामने आया. इस मामले में बिहार के एक मजदूर को गिरफ्तार किया गया. घटना के बाद से उत्तर भारतीयों के खिलाफ नफरत वाले मैसेज वायरल होने लगे. इसके बाद उत्तर भारतीयों पर हमले शुरू हो गए. गांधीनगर, मेहसाणा, साबरकांठा, पाटन और अहमदाबाद में हमले हुए. इसके बाद कई उत्तर भारतीय मजदूरों ने गुजरात से पलायन करना शुरु कर दिया.

Leave a Reply