पाक से भारत लौटी गीता का ‘स्‍वयंवर’ आज, 10-10 मिनट मिलेंगे 14 युवक

पाकिस्तान से भारत लौटी गीता एक बार फिर चर्चा में है. मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में आज गीता का ‘स्वयंवर’ रचाया जाएगा. गीता को जीवनसंगिनी बनाने के लिए देशभर से कई युवकों ने कोशिश की थी, लेकिन मौका मिला है सिर्फ 14 को. इनमें से एक को वह अपना जीवनसाथी चुनेगी.

दो दिनों के आयोजन के पहले दिन छह लड़के और दूसरे दिन गीता आठ लड़कों से मुलाकात करेगी. गीता अपने जीवन की डोर जोड़ने के लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही नहीं, सरकारी और निजी कंपनी में नौकरी करने वालों के साथ ही किसान और होटल में काम करने वाले युवक भी लालायित हैं.

माता-पिता की तलाश नहीं हो पाने पर गीता ढाई साल से स्कीम 71 के मूक-बधिर संगठन में रह रही है. इस बीच उसके माता-पिता की तलाश जारी है. दो दर्जन से ज्यादा दंपतियों ने उसके माता-पिता होने का दावा किया, लेकिन कोई भी उसे बेटी साबित नहीं कर पाया. इस बीच उसके लिए दूल्हा ढूंढने का सिलसिला शुरू हो गया है. विदेश मंत्रालय से हरी झंडी मिलने पर फेसबुक पर वर तलाशने की पोस्ट शेयर की गई.

गीता से शादी के लिए देशभर से करीब 50 युवकों के बायोडाटा पहुंचे थे. प्रशासन ने इनमें से 30 का चयन किया था इनके बायोडाटा और फोटो गीता को दिखाए गए. गीता ने 16 का चयन किया, जिनमें से 14 युवकों को मिलने का आमंत्रण भेजा गया है इन्हीं 14 युवकों में से गीता अपने लिए जीवनसाथी चुनेगी. सभी युवकों को गीता से मुलाकात और बातचीत के लिए दस-दस मिनट का वक्त दिया जाएगा.

Leave a Reply