सफाईकर्मियों को आईएएस अफसरों जितनी सैलरी दिलाना चाहते हैं केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने सफाईकर्मियों को आईएएस अफसरों के बराबर वेतन देने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि अगर सरकार सफाईकर्मियों को सचमुच में सम्मान देना चाहती है तो उन्हें अधिकारियों जैसा वेतन देने की पहल करे। पासवान ने लोकजनशक्ति पार्टी की श्रमिक शाखा की बैठक में ये बाते कहीं। उन्होंने सीवेज और नालियों की हाथ से सफाई को अपराध और ऐसा करने वालों पर कार्रवाई की मांग की। कहा कि कई बार सीवेज की सफाई में उतरे श्रमिकों की जहरीली गैस से मौत हो जाती है।

हालांकि मंत्री राम विलास पासवान ने नरेंद्र मोदी सरकार के स्वच्छता अभियान की प्रशंसा की। कहा कि उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों के हाथों में झाड़ू पकड़ना सुनिश्चित कर ऐतिहासि काम किया। उन्होंने कहा कि सफाईकर्मियों को सम्मान देने का मतलब है श्रम को सम्मान देना। इस नाते सफाईकर्मियों का वेतन आईएएस अफसरों से कम नहीं होना चाहिए। काम के हिसाब से सफाईकर्मियों को बहुत कम वेतन मिल रहा है, उनकी हालत दयनीय है।
वहीं राम विलास पासवान ने अगड़ी जातियों को भी 15 प्रतिशत कोटा देने की मांग की।उन्होंने कहा कि हर जाति में गरीब होते हैं। अगड़ी जातियों के गरीबों को भी आरक्षण मिलना चाहिए। ताकि उन्हें भी आगे बढ़ने के समान अवसर प्राप्त हो सके। राम विलास पासवान ने कहा कि मौजूदा समय आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को तीन हजार रुपये मासिक वेतन बहुत कम है।हर राज्य की सरकार को वेतन बढ़ाना चाहिए।

Leave a Reply