आयोग ने योगी आदित्यनाथ व मायावती के चुनाव प्रचार करने पर लगाई रोक

  • आयोग ने मायावती पर 48 घंटे व योगी पर 72 घंटे के प्रचार अभियान पर लगाई रोक

लखनऊ. चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व बसपा प्रमुख मायावती के चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है। योगी आदित्यनाथ 72 घंटे तो मायावती अगले 48 घंटे तक प्रचार नहीं कर पाएंगे। चुनाव आयोग का यह आदेश मंगलवार सुबह छह बजे से प्रभावी होगा। माना जा रहा है कि अब जया प्रदा के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी को लेकर आयोग समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई कर सकता है।

अली-बजरंगबली के बयान का मामला

दरअसल, सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक सभा में कहा था कि, अगर कांग्रेस, एसपी, बीएसपी को अली पर विश्वास है तो हमें भी बजरंग बली पर विश्वास है। योगी ने देवबंद में बीएसपी प्रमुख मायावती के उस भाषण की तरफ इशारा करते हुए यह टिप्पणी की थी, जिसमें मायावती ने मुस्लिमों से एसपी-बीएसपी गठबंधन को वोट देने की अपील की थी। 

योगी ने मांगी थी माफी; कहा- वे अब ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करेंगे

मायावती ने देवंबद में रैली में मुसलमानों से वोट की अपील की थी। मायावती के इस बयान को लेकर चुनाव आयोग ने उनसे जवाब तलब किया था। अब आयोग ने उन पर कड़ी कार्रवाई की है। इसके तहत अब मायावती अगले 48 घंटे तक प्रचार नहीं कर पाएंगी। इसके अलावा अली और बजरंगबली को लेकर एक चुनावी सभा में दिए गए बयान पर आयोग ने सीएम योगी आदित्यनाथ को नोटिस जारी किया था। योगी ने अपना जवाब दाखिल करते हुए माफी मांगी थी कि वे अब ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करेंगे। अब इस मामले में आयोग ने योगी पर कड़ी कार्रवाई करते हुए 3 दिन तक प्रचार पर रोक लगा दी है। 

Leave a Reply